जन्मजात मोतियाबिंद: लक्षण, कारण और निदान – Congenital Cataract: Symptoms, Causes And Diagnosis In Hindi

Congenital Cataract: All About This Cataract

जन्मजात मोतियाबिंद क्या है – What Is Congenital Cataract In Hindi

Congenital Cataractजन्मजात मोतियाबिंद आंख के लेंस का धुंधलापन है, जो जन्म के समय मौजूद रहता है या जीवन के पहले कुछ महीनों में विकसित होता है। जन्मजात मोतियाबिंद एक या दोनों आंखों में हो सकता है और अक्सर परिवारों में चलता है। इसके अलावा अनुपचारित छोड़ दिए जाने पर जन्मजात मोतियाबिंद का विकास गंभीर दृष्टि समस्याएं पैदा कर सकता है।

आमतौर पर ज्यादातर जन्मजात मोतियाबिंद छोटे होते हैं और दृष्टि में रुकावट पैदा नहीं करते हैं। हालांकि, कुछ प्रकार के जन्मजात मोतियाबिंद गंभीर दृष्टि समस्याएं पैदा कर सकते हैं। जन्मजात मोतियाबिंद के उपचार में धुंधले लेंस को हटाने और इसे आर्टिफिशियल लेंस से बदलने के लिए सर्जरी शामिल है। कुछ अध्ययनों के अनुसार, अनुमानित रूप से पूरी दुनिया में हर साल हजारों बच्चे मोतियाबिंद के साथ पैदा होते हैं।

कुछ मोतियाबिंद दृष्टि को प्रभावित नहीं करते हैं और उनके लिए उपचार की जरूरत नहीं होती है। जबकि, अन्य लोगों को इलाज नहीं किए जाने पर गंभीर दृष्टि समस्याएं हो सकती हैं। ऐसे में अगर आपके बच्चे को जन्मजात मोतियाबिंद है, तो उनकी दृष्टि की बारीकी से निगरानी करना जरूरी है। साथ ही अपने बच्चे की दृष्टि में कोई बदलाव दिखने पर आपको तुरंत अपने नेत्र रोग विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। इस ब्लॉग पोस्ट में हम जन्मजात मोतियाबिंद के लक्षण, कारण और उपचार विकल्प सहित कई जरूरी बातों पर चर्चा करेंगे।

जन्मजात मोतियाबिंद के लक्षण – Symptoms Of Congenital Cataract In Hindi

Signs of Congenital Cataractकई लक्षणों की पहचान करके पता लगाया जा सकता है कि बच्चे को जन्मजात मोतियाबिंद है। इनमें शामिल हैं:

पुतली में सफेद या धुंधला हिस्सा

जन्मजात मोतियाबिंद के सबसे आम लक्षणों में से एक आंख की पुतली में सफेद या धुंधले हिस्से का होना है। इससे बच्चे की आंखें तिरछी नजर आती हैं या आंखों का अलग-अलग रंग हो सकता है (अगर एक आंख में जन्मजात मोतियाबिंद है और दूसरी में नहीं)।

तस्वीरें लेते समय फ्लैश से सफेद रिफ्लेक्शन

जब माता-पिता अपने बच्चों की फ्लैश के साथ तस्वीरें लेते हैं, तो एक सामान्य लक्षण यह दिखाई देता है कि दोनों आंखें सफेद प्रकाश को प्रतिबिंबित नहीं करती हैं। ऐसे में एक आंख दूसरी से ज्यादा गहरी दिखाई दे सकती है। अगर जन्मजात मोतियाबिंद है, तो तस्वीर सफेद प्रतिबिंब के रूप में दिखाई देती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि मोतियाबिंद काले रंग की तुलना में ज्यादा सफेद होता है। इसके अलावा अगर एक आंख एक अंधेरे हिस्से को दर्शाती है, तो उस आंख में जन्मजात मोतियाबिंद हो सकता है।

एक आंख का दूसरी से बड़ी लगना

अगर एक आंख दूसरी से बड़ी दिखाई देती है, तो यह संभावित मोतियाबिंद के कारण पुतलियों के बढ़े हुए आकार का संकेत हो सकता है। यह चाइल्डकैअर प्रोवाइडर और माता-पिता के लिए दृष्टि के साथ कठिनाइयों का कारण बन सकता है, खासकर जब बच्चों को खिलाने और उनके साथ खेलने की बात आती है, जो पहले से ही साफ देखने में असमर्थता के कारण अपने आसपास की किसी भी चीज पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई महसूस करते हैं।

आईरिस के रंग में बदलाव

आईरिस के रंग में बदलाव एक अन्य संकेत है, जो जन्मजात मोतियाबिंद की उपस्थिति का संकेत दे सकता है। इससे एक आंख दूसरी की तुलना में ज्यादा काली हो जाती है।

एक पुतली का दूसरी से बड़ा होना

अगर एक पुतली दूसरे की तुलना में काफी बड़ी है, तो यह भी जन्मजात मोतियाबिंद मौजूद होने का एक संकेत है। इससे बच्चों के लिए किसी भी चीज पर फोकस करना मुश्किल होता है। साथ ही उन्हें साफ देखने में कठिनाई हो सकती है।

जन्मजात मोतियाबिंद के कारण – Causes Of Congenital Cataract In Hindi

Reasons for Congenital Cataractजन्मजात मोतियाबिंद के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से कुछ निम्नलिखित हैं:

इंफेक्शन- जन्मजात मोतियाबिंद के सबसे आम कारणों में से एक इंफेक्शन है, जो गर्भावस्था के दौरान मां को हो सकता है। यह इंफेक्शन जन्म दोषों के सबसे आम कारण भी हैं। टोक्सोप्लाज़मोसिज़, रूबेला, साइटोमेगालोवायरस और हर्पीस जैसे कुछ सबसे आम इंफेक्शन जन्मजात मोतियाबिंद का कारण बनते हैं। ऐसे में गर्भवती होने से पहले टीका लगवाने से अक्सर इन इंफेक्शन को रोका जा सकता है।

आनुवंशिक विकार- कई अलग-अलग आनुवंशिक विकार जन्मजात मोतियाबिंद का कारण बन सकते हैं। इनमें से कुछ विकारों में शामिल हैं:

  • डाउन सिंड्रोम
  • टर्नर सिंड्रोम
  • रंगहीनता

मोतियाबिंद जीन में उत्परिवर्तन के कारण भी हो सकता है, जो लेंस प्रोटीन बनाने के लिए जिम्मेदार है। यह उत्परिवर्तन आमतौर पर एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक पारित होता है। कुछ मामलों में उत्परिवर्तन जन्म के समय मौजूद रहता है। जबकि, कुछ में यह जीवन में बाद में विकसित होता है।

सूजन और जलन- जन्मजात मोतियाबिंद का अन्य कारण सूजन और जलन है। यह किसी इंफेक्शन, बीमारी या आंख में चोट लगने के कारण भी हो सकता है।

कुछ रसायनों से संपर्क- कुछ रसायनों के संपर्क में आने से भी जन्मजात मोतियाबिंद हो सकता है। इन रसायनों में शामिल हैं:

  • कोर्टिकोस्टेरोइड
  • एंटी-एपीलेक्टिक दवाएं
  • कुछ एंटीबायोटिक्स

डायबिटीज- अगर मां को डायबिटीज है, तो उसके बच्चे को जन्मजात मोतियाबिंद होने का खतरा ज्यादा होता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि मां के रक्त में शर्करा का उच्च स्तर आंख के विकासशील लेंस को नुकसान पहुंचा सकता है।

जन्मजात मोतियाबिंद का निदान – Diagnosis Of Congenital Cataract In Hindi

जन्मजात मोतियाबिंद का निदान करने के कई तरीके हैं। इनमें पहला तरीका एक व्यापक आंखों की जांच है, जिससे आंख की संरचना या काम में किसी भी असामान्यता का पता लगा सकते हैं। कुछ मामलों में आंख की आंतरिक संरचनाओं को करीब से देखने के लिए सर्जन एक्स-रे या अल्ट्रासाउंड जैसी जांच भी करते हैं। अगर जन्मजात मोतियाबिंद का संदेह होता है, तो बच्चे को आगे के मूल्यांकन के लिए बाल रोग विशेषज्ञ के पास भेजा जाता है। यह विशेषज्ञ आंखों की पूरी जांच करते हैं और जरूरत पड़ने पर किसी अन्य जांच के लिए कह सकते हैं।

ज्यादातर मामलों में अकेले लक्षणों और शारीरिक परीक्षा के आधार पर निदान किया जाता है। जबकि, कुछ मामलों में निदान की पुष्टि करने के लिए आनुवंशिक परीक्षण की भी सिफारिश की जा सकती है। खून की जांच की मदद से डॉक्टर इंफेक्शन या आनुवंशिक विकारों की जांच करते हैं, जो मोतियाबिंद का कारण हो सकते हैं। इमेजिंग परीक्षण आपके बच्चे की आंख के अंदर की तस्वीरें बनाते हैं। इससे डॉक्टर को यह देखने में मदद मिल सकती है कि क्या लेंस या आंख के अन्य हिस्सों को कोई नुकसान हुआ है।

इनमें से कुछ परीक्षण अल्ट्रासाउंड ओसीटी (ऑप्टिकल कोहेरेंस टोमोग्राफी) एमआरआई (चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग) सीटी (कंप्यूटेड टोमोग्राफी) स्कैन हैं। निदान का एक अन्य तरीका फंडस फोटोग्राफी है। यह एक खास तरह की तस्वीर है, जो नेत्र रोग विशेषज्ञ को आंख के अंदर देखने में मदद करती है। इससे जन्मजात मोतियाबिंद का निदान करने में मदद मिलती है, क्योंकि यह मोतियाबिंद का स्थान और आकार दिखा सकती है।

क्या जन्मजात मोतियाबिंद का इलाज है?

Is There a Cure For a Congenital Cataract?जन्मजात मोतियाबिंद का प्राथमिक उपचार सर्जरी है। ज्यादातर मामलों में आंख को किसी भी नुकसान से बचाने के लिए निदान के तुरंत बाद सर्जरी की जाती है। इस सर्जरी का प्रकार मोतियाबिंद के स्थान और आकार पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में कॉर्निया के अंदर छोटा चीरा लगाना और इस छेद से लेंस को हटाना शामिल है। जबकि, अन्य मामलों में मोतियाबिंद को हटाने के लिए एक बड़े चीरे की जरूरत हो सकती है।

इस मोतियाबिंद के लिए एक अन्य उपचार विधि कॉन्टेक्ट लेंस या चश्मे का उपयोग है। यह अपवर्तक त्रुटियों को ठीक करके दृष्टि में सुधार करने में मदद करता है। इन उपचार विधियों में से कुछ स्थायी नहीं हैं और बच्चे के बढ़ने या विकसित होने पर इसे दोहराने की जरूरत हो सकती है। एक अन्य उपचार दवाओं का उपयोग है, जो अपवर्तक त्रुटियों को ठीक करके दृष्टि सुधार में मदद करता है। इन उपचार विधियों में से कुछ स्थायी नहीं हैं और बच्चे के बढ़ने या विकसित होने पर इसे दोहराना पड़ सकता है। साथ ही कभी-कभी सर्जरी के बाद भी मोतियाबिंद वापस आ सकता है।

जन्मजात मोतियाबिंद होने से कैसे रोक सकते हैं?

How Can You Prevent Getting a Congenital Cataract?जन्मजात मोतियाबिंद को रोकने में मदद के लिए आप कुछ चीजें कर सकते हैं:

नियमित आंखों की जांच

जन्मजात मोतियाबिंद या किसी अन्य दृष्टि समस्या को रोकने में मदद के लिए आप कई चीजें कर सकते हैं। इनमें नियमित आंखों की जांच भी शामिल है। एक अनुभवी डॉक्टर मोतियाबिंद और अन्य समस्याओं के शुरुआती लक्षणों की जांच कर सकते हैं।

स्वस्थ भोजन का सेवन
स्वस्थ भोजन का सेवन करने से आपकी आंखों सहित आपके समग्र स्वास्थ्य में मदद मिलती है। इसके अलावा फलों, सब्जियों, साबुत अनाज और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर आहार का सेवन आपकी आंखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

धूप के चश्मे का उपयोग
धूप का चश्मा आपकी आंखों को सूरज की हानिकारक यूवी किरणों से बचाने में मदद करता है। धूप का चश्मा पहनने से मोतियाबिंद और आंखों की अन्य समस्याओं को रोकने में मदद मिल सकती है। इसके लिए आपको ऐसा धूप का चश्मा खरीदना चाहिए, जो आपकी आंखों के लिए यूवी सुरक्षा प्रदान करता है।

धूम्रपान से परहेज
धूम्रपान आपकी आंखों सहित आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। धूम्रपान मोतियाबिंद और आंखों की अन्य समस्याओं के लिए आपके जोखिम को बढ़ा सकता है। ऐसे में अगर आप धूम्रपान करते हैं, तो छोड़ने के तरीकों के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

निष्कर्ष – Conclusion In Hindi

अगर आप या आपके बच्चे को जन्मजात मोतियाबिंद का निदान किया गया है, तो जल्द अपने डॉक्टर से मिलना जरूरी है। यह स्थिति अपेक्षाकृत सामान्य है और इलाज में मदद करने के लिए कई संसाधन उपलब्ध हैं। इस प्रकार सही उपचार और मदद के साथ आप अपनी स्थिति का प्रबंधन और जीवन की अच्छी गुणवत्ता का आनंद ले सकते हैं।

मोतियाबिंद सर्जरी एक सुरक्षित और दर्द रहित प्रक्रिया है। अगर आपके कोई सवाल या परेशानी है, तो आज ही आई मंत्रा के अनुभवी नेत्र रोग विशेषज्ञों से संपर्क करना सुनिश्चित करें। आई मंत्रा में हमारे पास अनुभवी आंखों के सर्जनों की एक टीम है, जो मोतियाबिंद सर्जरीमोतियाबिंद सर्जरी की कीमत, मोतियाबिंद सर्जरी के अलग-अलग प्रकारों के लिए मोतियाबिंद लेंस की कीमत- फेकोइमल्सीफिकेशनएमआईसीएस और फेम्टो लेजर मोतियाबिंद पर आपके किसी भी सवाल का जवाब देने में सक्षम है। ज्यादा जानकारी के लिए हमें +91-9711116605 पर कॉल या [email protected] पर ईमेल करें।