आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी: प्रक्रिया और जोखिम – Iris Hooks Cataract Surgery: Procedure And Risks In Hindi

IRIS Hooks Cataract Surgery : Procedure and Benefits of It

आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी क्या है – What Is Iris Hooks Cataract Surgery In Hindi

What is IRIS Hooks Cataract Surgery?आईरिस हुक्स एक प्रकार का सर्जिकल उपकरण है। आमतौर पर सर्जन द्वारा इसका उपयोग मोतियाबिंद सर्जरी के दौरान किया जाता है। इस प्रक्रिया में सर्जन आंख के अंदर एक चीरा लगाते हैं और फिर इंट्राओकुलर लेंस यानी आईओएल डालते हैं। आईओएल को छोटे टांके की एक श्रृंखला या आईरिस-फिक्सेटेड लेंस (आईएफएफ) द्वारा जगह में रखा जाता है।

आईएफएफ खास तरह का आईओएल है, जिसमें दो छोटे लूप या हुक होते हैं और यह आईरिस यानी आंख के रंगीन भाग से जुड़ते हैं। मोतियाबिंद सर्जरी पूरी दुनिया में की जाने वाली सबसे आम सर्जरी में से एक है। हर साल लाखों लोग यह प्रक्रिया करवाते हैं। इस तरह की सर्जरी को आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी कहा जाता है। यह दृष्टि को स्थायी नुकसान पहुंचा सकती है और उपचार के लिए अन्य सर्जरी की जरूरत हो सकती है। इस ब्लॉग पोस्ट में इस सर्जरी की प्रक्रिया और जोखिम सहित सभी जरूरी बातों पर चर्चा करेंगे। अगर आप या आपके कोई परिजन इस प्रकार की सर्जरी पर विचार कर रहे हैं, तो आपके लिए यह ब्लॉग पोस्ट बहुत फायदेमंद है।

सर्जरी की प्रक्रिया – Procedure Of Surgery In Hindi

आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी का काम पोस्टीरियर कैप्सुलर ओपेसीफिकेशन की रोकथाम में मदद करना है। यह आईरिस में छोटे यानी 2 से 3 एमएम चीरे बनाकर होता है, जिसके कारण हुक बनते हैं। यह हुक मोतियाबिंद सर्जरी के दौरान आईरिस को पकड़ने में मदद करते हैं, जिससे इसकी गति को रोका जा सकता है। मोतियाबिंद सर्जरी की प्रक्रिया के दौरान आंख के प्राकृतिक लेंस को हटाया और इंट्राओकुलर लेंस के साथ बदला जाता है। यह इंट्राओकुलर लेंस दृष्टि बहाल करने में मदद करता है।

कुछ मामलों में सर्जरी के दौरान आईरिस हिलने लगती है और इससे पोस्टीरियर कैप्सुलर ओपेसीफिकेशन हो सकता है। पोस्टीरियर कैप्सुलर ओपेसीफिकेशन एक ऐसी स्थिति है, जिसमें प्राकृतिक लेंस का पिछला हिस्सा फिर से बढ़ने लगता है और धुंधला हो जाता है। इससे दृष्टि कम हो सकती है, लेकिन आईरिस हुक्स सर्जरी के दौरान आईरिस को जगह पर पकड़कर इस स्थिति को रोकने में मदद करते हैं। कभी-कभी सर्जन इसे और सुरक्षित करने के लिए आईरिस में एक टांके भी लगा सकते हैं। यह टांके आमतौर पर सर्जरी के कुछ हफ्ते बाद हटा दिए जाते हैं।

सर्जरी के लिए सही उम्मीदवार – Right Candidate For Surgery In Hindi

Who is a Good Candidate For IRIS Hooks Cataract Surgery?मोतियाबिंद सर्जरी के लिए इंट्राओकुलर लेंस यानी आईओएल का सबसे अच्छा प्रकार चुनना कई कारकों पर निर्भर करता है। इनमें आपकी आंखों का स्वास्थ्य, आपकी जीवनशैली और आपके दृश्य लक्ष्य शामिल हैं।

आईरिस हुक्स तकनीक छोटे पुतली वाले मरीजों के लिए सबसे उपयुक्त है, जिन्हें पोस्टीरियर कैप्सुलर ओपेसिफिकेशन यानी पीसीओ विकसित होने का उच्च जोखिम है। इसे सेकेंडरी मोतियाबिंद भी कहते हैं। इस स्थिति में आंख के प्राकृतिक लेंस का पिछला भाग धुंधला हो जाता है, जिससे धुंधली दृष्टि होती है।

आईरिस हुक्स का उपयोग उन मरीजों में भी किया जा सकता है, जिनकी लेसिक या पीआरके जैसी पिछली अपवर्तक सर्जरी हुई है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि हुक आईओएल को जगह पर स्थिर करने में मदद करते हैं। साथ ही इसे आंख के अंदर घूमने से रोकते हैं। आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी चुनने वाले लोगों के कुछ कारक हैं:

उम्र

मोतियाबिंद सर्जरी के लिए आपकी पात्रता निर्धारित करना वाला सबसे बड़े कारक आपकी उम्र है। ज्यादातर मामलों में डॉक्टर सिर्फ तभी सर्जरी की सलाह देते हैं, जब दृष्टि हानि आपके जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित करने लगती है। इसका मतलब अगर आप युवा हैं और आपकी दृष्टि मोतियाबिंद से सिर्फ मामूली रूप से प्रभावित है, तो सर्जरी की सिफारिश नहीं की जा सकती है।

सर्जरी आमतौर पर सिर्फ तभी मानी जाती है, जब मोतियाबिंद दैनिक काम करने की आपकी क्षमता में रुकावट पैदा करने लगता है। इनमें गाड़ी चलाना, पढ़ना या टीवी देखना शामिल हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, अगर आपके परिवार में जल्दी शुरू होने वाले मोतियाबिंद का इतिहास रहा है, तो आपको सर्जरी कराने की सलाह दी जा सकती है। ऐसा तब भी किया जा सकता है, जब आपकी दृष्टि सिर्फ मामूली रूप से प्रभावित हुई हो।

चिकित्सा इतिहास

आपका चिकित्सा इतिहास भी मोतियाबिंद सर्जरी के लिए आपकी पात्रता को प्रभावित कर सकता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि कुछ चिकित्सकीय स्थितियां सर्जरी के बाद आपकी जटिलताओं के जोखिम को बढ़ाती हैं।
उदाहरण के लिए, डायबिटीज वाले लोगों में सर्जरी के बाद इंफेक्शन की ज्यादा संभावना होती है। इससे आपका रेटिनल डिटैचमेंट विकसित करने का जोखिम भी बढ़ सकता है। यह एक गंभीर जटिलता है, जो स्थायी दृष्टि हानि का कारण बनती है। रुमेटीइड गठिया या ल्यूपस जैसी ऑटोइम्यून बीमारियों वाले लोग जटिलताओं के उच्च जोखिम में हो सकते हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि यह स्थितियां उपचार प्रक्रिया को प्रभावित कर सकती हैं और सूजन के जोखिम को बढ़ाती हैं।

आंखों का स्वास्थ्य

सर्जरी से संबंधित किसी भी फैसले से पहले आपकी आंखों का स्वास्थ्य भी ध्यान में रखा जाता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि आंखों की कुछ स्थितियां सर्जरी को ज्यादा जटिल बनाती हैं। साथ ही इससे जटिलताओं का जोखिम भी बढ़ सकता है। उदाहरण के लिए, ग्लूकोमा या मैकुलर डिजेनेरेशन वाले लोगों को सर्जरी नहीं कराने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि यह स्थितियां आईओएल को इम्प्लांट करना ज्यादा कठिन बनाती हैं। ऐसे में सर्जरी के बाद इन स्थितियों वाले लोगों को दृष्टि संबंधी समस्याएं होने का ज्यादा खतरा हो सकता है।

जीवनशैली

जीवनशैली भी मोतियाबिंद सर्जरी के लिए आपकी पात्रता को प्रभावित कर सकती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि संपर्क खेल जैसी गतिविधियों में भाग लेने वाले लोगों को सर्जरी नहीं करवानी चाहिए। यह गतिविधियां उन्हें आंखों की चोट के उच्च जोखिम में डालती हैं। ऐसा इसलिए है, क्योंकि आंख पर सीधा झटका लगने से आईओएल खिसक सकता है। इसके अलावा निर्माण श्रमिक जैसे लोग खतरनाक वातावरण में काम करते हैं। ऐसे में उन्हें भी चोट के बढ़ते जोखिम के कारण सर्जरी नहीं कराने की सलाह दी जा सकती है।

सर्जरी के जोखिम – IRIS Hooks Cataract Surgery Risks In Hindi

आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी से जुड़े कई जोखिम हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं:

  • इंफेक्शन: किसी भी प्रकार की सर्जरी में इंफेक्शन का जोखिम होता है और प्रक्रिया से गुजरने के बाद इंफेक्शन विकसित होना संभव है। अगर आप इंफेक्शन विकसित करते हैं, तो समस्या के इलाज में एंटीबायोटिक्स लेना या आगे की सर्जरी करना जरूरी हो सकता है।
  • खून बहना: इस प्रकार की सर्जरी के दौरान या बाद में खून बहने का अनुभव भी संभव है। अगर आप ज्यादा खून बहने का अनुभव करते हैं, तो इसे रोकने के लिए आपको अन्य सर्जरी की जरूरत हो सकती है।
  • सूजन: किसी भी सर्जरी के बाद सूजन होना आम बात है, जिससे आपकी दृष्टि थोड़े समय के लिए धुंधली हो सकती है। हालांकि, कुछ हफ्तों के अंदर सूजन कम नहीं होने पर सर्जन आपके लिए अन्य उपचार की सिफारिश करते हैं।
  • रेटिनल डिटैचमेंट: इस सर्जरी के कारण रेटिनल डिटैचमेंट हो सकता है और तुरंत इलाज नहीं किए जाने पर यह स्थायी दृष्टि हानि का कारण बनता है।

सर्जरी की तैयारी – Preparation For Surgery In Hindi

How To Prepare For IRIS Hooks Cataract Surgery?अगर आपको मोतियाबिंद का निदान किया गया है, तो डॉक्टर धुंधला लेंस हटाने और इसे साफ आर्टिफिशियल लेंस से बदलने के लिए सर्जरी की सिफारिश कर सकते हैं। इस तरह की सर्जरी को मोतियाबिंद सर्जरी कहा जाता है। आमतौर पर मोतियाबिंद सर्जरी करवाने वाले ज्यादातर लोग बहुत कम या कोई परेशानी नहीं होने की रिपोर्ट करते हैं। इस प्रकार वह एक या दो दिन के अंदर अपनी सामान्य गतिविधियों में वापस आ सकते हैं। हालांकि, किसी भी सर्जरी की तरह इसमें भी कुछ जोखिम शामिल हैं। ऐसे में मोतियाबिंद सर्जरी के बाद सफल नतीजे पाने के लिए डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना जरूरी है, जैसे:

  • कुछ दवाओं का सेवन बंद करना: अगर आप खून पतला करने वाली दवा या स्टेरॉयड लेते हैं, तो डॉक्टर आपको सर्जरी से पहले यह दवाएं बंद करने की सलाह देते हैं।
  • शराब से परहेज: सर्जरी से 24 घंटे पहले शराब पीने से बचना जरूरी है, क्योंकि इससे प्रक्रिया के दौरान रक्तस्राव बढ़ सकता है।
  • स्वस्थ आहार का सेवन: इससे सर्जरी के बाद उपचार को बढ़ावा देने में मदद मिलती है। डॉक्टर अनुशंसा कर सकते हैं कि आप विटामिन ए और सी के साथ-साथ प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  • भरपूर आराम करना: भरपूर आराम करने से आपके शरीर को ठीक होने और सर्जरी से जल्द रिकवर होने में मदद मिलती है। ऐसे में अपने ऑपरेशन से पहले की रातों में कम से कम आठ घंटे की नींद लेना जरूरी है।

सर्जरी से रिकवरी – Recovery From Surgery In Hindi

इस सर्जरी के बाद रिकवरी प्रक्रिया अपेक्षाकृत कम और आसान है। ज्यादातर मरीज प्रक्रिया के दिन ही घर लौट सकते हैं और सिर्फ मामूली असुविधा महसूस करते हैं। पोस्ट-ऑपरेटिव देखभाल के लिए सर्जन के निर्देशों का पालन करना जरूरी है, जैसे:

आई-ड्रॉप्स का उपयोग करें

डॉक्टर द्वारा बताए अनुसार आईड्रॉप का उपयोग करना आपकी आंखों की जल्द रिकवरी के लिए सबसे जरूरी है। इसके अलावा आपको एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीबायोटिक आईड्रॉप भी दी जा सकती है, जिसका उपयोग सर्जरी के बाद 10 दिनों के लिए किया जाना चाहिए। यह सूजन को कम करने और इंफेक्शन को रोकने में मदद करती हैं। अगर आपके पास कोई सवाल है कि आपको किस आईड्रॉप का उपयोग कितनी बार करना है, तो आपको अपने सर्जन से पूछना चाहिए।

आई शील्ड पहनें

रिकवरी के दौरान आंख की सुरक्षा के लिए डॉक्टर आपको सर्जरी के बाद पहले कुछ हफ्तों के दौरान रात में आई शील्ड पहनने की सलाह दे सकते हैं। इस दौरान आपको अपनी आंख को रगड़ने या छूने से भी बचना चाहिए।

आंखों के व्यायाम करें

कुछ मामलों में आईरिस हुक के साथ की गई मोतियाबिंद सर्जरी के प्रकार के आधार पर सर्जन यह सिफारिश कर सकते हैं कि आप सर्जरी के बाद एक हफ्ते के लिए हर दिन एक या दो बार कुछ आसान आंखों के व्यायाम करें। इन अभ्यासों में आपके चेहरे के सामने एक उंगली पकड़ना और इसे एक तरफ से दूसरी तरफ, ऊपर और नीचे और आकृति आठ में ले जाना शामिल है। आमतौर पर इन अभ्यासों का उद्देश्य आंखों की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करना है। इसके अलावा यह आपकी दृष्टि को बेहतर बनाने के लिए भी फायदेमंद हैं।

सर्जरी के बाद रिकवरी

आईरिस हुक्स मोतियाबिंद सर्जरी कराने वाले ज्यादातर मरीज एक या दो दिन के अंदर अपनी सामान्य गतिविधियों में वापस आ सकते हैं। ऐसे में उपचार के दौरान आंख को रगड़ने या छूने से बचना जरूरी है। हालांकि, आपको भारी सामान उठाने जैसी गतिविधियों से भी बचना चाहिए, जो आपकी आंखों पर ज्यादा तनाव डाल सकती हैं।

निष्कर्ष – Conclusion In Hindi

आईरिस हुक एक प्रकार का सर्जिकल उपकरण है, जिसका उपयोग मोतियाबिंद सर्जरी में किया जाता है। इससे सर्जरी के दौरान लेंस को स्थिर रखने में मदद मिल सकती है। साथ ही इसे टाइटेनियम और स्टेनलेस स्टील सहित अलग-अलग सामग्रियों से बनाया जाता है। इस प्रकार आईरिस हुक सुरक्षित और प्रभावी हैं। यह उपकरण हजारों सर्जरी में उपयोग किया गया है, जिनमें गंभीर जटिलताओं की कोई रिपोर्ट नहीं है। अगर आप मोतियाबिंद की सर्जरी करवा रहे हैं, तो सर्जन आपकी प्रक्रिया के दौरान आईरिस हुक का उपयोग कर सकते हैं।

मोतियाबिंद सर्जरी एक सुरक्षित और दर्द रहित प्रक्रिया है। अगर आपके कोई सवाल या परेशानी है, तो आज ही आई मंत्रा के अनुभवी नेत्र रोग विशेषज्ञों से संपर्क करना सुनिश्चित करें। आई मंत्रा में हमारे पास अनुभवी आंखों के सर्जनों की एक टीम है, जो मोतियाबिंद सर्जरीमोतियाबिंद सर्जरी की कीमत, मोतियाबिंद सर्जरी के अलग-अलग प्रकारों के लिए मोतियाबिंद लेंस की कीमत- फेकोइमल्सीफिकेशनएमआईसीएस और फेम्टो लेजर मोतियाबिंद पर आपके किसी भी सवाल का जवाब देने में सक्षम है। ज्यादा जानकारी के लिए हमें +91-9711116605 पर कॉल या [email protected] पर ईमेल करें।